गर्लफ्रेंड के साथ हॉट हनीमून

Hindi sex story, antarvasna chudai ki kahani, desi kahani, hindi sex kahani.
हैलो दोस्तो,, मै raj पिछले पाँच वर्षों से लगातार secstoriesHD की कहानियाँ पढ़ता आ रहा हूँ।
मुझे भी लगा कि मै भी एक कहानी लिखूँ। यह मेरी पहली कहानी है,, अगर लिखने में कुछ भूल हुई हो,, तो प्लीज़ अनदेखा कर दें।

बात उन दिनों की है,, जब मै 12वीं पास कर चुका था,, उन्हीं दिनों मुझमें सेक्स का कीड़ा पैदा हुआ। किसी भी स्त्री को देख कर लंड खड़ा हो जाता था।

एक दिन मैने एक लड़की को देखा,, वो देखने में सीधी:-साधी,, लेकिन थी एकदम बम टाइप की।
उसके चूतड़ों को देखकर लोगों का लंड खड़ा हो जाता था, उसका नाम ममता था, उसकी एक दुकान भी है। ममता अभी वो 12वीं में पढ़ रही थी और दुकान का काम भी देखा करती थी।

मै रोजाना उसकी दुकान पर अखबार पढ़ने और उसे लाइन मारने जाया करता था। मै कभी:-कभी आँख भी मार दिया करता था,, लेकिन वो बस हँस दिया करती थी, मै और उत्साहित हो जाता था।
अब मुझसे रहा नहीं जा रहा था,, लेकिन मै डरता था कि वो कहीं भड़क ना जाए।

बहुत हिम्मत करके मैने उसे एक दिन लेटर दिया। वो लेटर देख के मुझपर भड़क गई और अपने पापा को बताने की धमकी देने लगी। मुझे गुस्सा आ गया और मै घर आ गया।
दूसरे दिन वो स्कूल चली गई, मै रास्ते में उसकी इंतजार कर रहा था,, तभी मुझे ममता सबसे पीछे आती हुई दिखाई दी।

मै झट से उसके पास गया और बोला:- मुझसे प्यार करती हो या नहीं?
उसने कुछ जवाब नहीं दिया, मुझे गुस्सा आ गया और मैने उसे पकड़ कर चूमना:-चाटना शुरू कर दिया, लगभग 5 मिनट तक मै उसे चूमता रहा।
फिर उससे पूछा:- बोलो प्यार करती हो या नहीं?
उसने डर कर ‘हाँ’ में जवाब दिया।
फिर मैने उसे जाने दिया।

अगले दिन उसके घर गया। घर में वो अकेली थी,, मै झट से दरवाजा बन्द करके कमरे में चला गया। अन्दर ममता गुमसुम बैठी थी।
मुझे देखकर ममता चौंक गई और बोली:- तुम यहाँ क्यों आए हो?
मैने कहा:- हनीमून मनाने आया हूँ।
यह कहानी आप secstoriesHD डॉट कॉम पर पढ़ रहे हैं !

ममता शर्मा गई और मुस्कुरा कर बोली:- इतनी जल्दी?
मैने कहा:- जल्दी से कपड़े खोलो,, कोई आ जाएगा।
उसने भी जल्दी से कपड़े उतार दिए। मै भी नंगा हो गया।

ममता की चूत देखकर मेरा लंड सलामी दे रहा था। मैने जल्दी से ममता को सीधा लिटा दिया और लंड को चूत के मुहाने पर टिका कर एक झटका मारा,, चूत इतनी कसी हुई थी कि लंड फिसल गया।

ममता बोली:- दुकान से तेल लेकर आ जाओ।
मै दुकान से मूंगफली का तेल लेकर आया और मेरे लंड में और ममता की चूत में लगा दिया।

फिर चूत में लंड का सुपारा टिका कर एक जोर से झटका मारा,, अब की बार आधे से ज्यादा लौड़ा चूत में अन्दर चला गया।
ममता छटपटाने और रोने लगी और लंड निकालने के बोलने लगी,, लेकिन मै कहाँ मानने वाला था, मै और जोर:-जोर से चोदने लगा।
कुछ देर बाद ममता शांत हुई और चूतड़ उठा:-उठा कर मेरा साथ देने लगी।
मै झटके पर झटका जोर:-जोर से लगाने लगा।

थोड़ी देर बाद ममता झड़ गई,, लेकिन मै अब भी जोर:-जोर से चोदे जा रहा था।
लगभग 15 मिनट के जोर:-जोर से चोदने के बाद मै भी उसकी चूत में ही झड़ गया।
उसकी चूत लबालब भरी हुई थी।
मै बहुत थक चुका था,, इसलिए ममता के ऊपर ही लेट गया।

थोड़ी देर बाद वीर्य को रूमाल से पोंछा और कपड़े पहनकर मै घर आ गया।
घर में खाना खाकर सो गया।
सुबह उठकर नाश्ता करके मै कोचिंग के लिए बिलासपुर चला गया।
उसके बाद सिर्फ हम दोनों फोन सेक्स ही करते हैं।

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *