चौकीदार के साथ कि चुदाई दास्तान अन्तर्वासना की कहानी

दोस्तों ये कहानी है सबसे पहले बता दूं कि chudai  ki kahaniya

हमारी शादी हुए करीब 20 साल हो ही गये हैं।

अब शैला में वो पहले वाली बात नहीं रह गई थी।

अब तो वो बस चुदाते समय बस लेटी रहती थी, उसमे कुछ भी सेक्स बाकी नहीं रह गया था।

मैं उससे बहुत बोर हो गया था इस तरह का सेक्स करते करते।

एक दिन मैंने शैला के ड्रॉवर का ताला खोला तो उसमें एक बड़ा सा प्लास्टिक का लण्ड रखा हुआ था।

मैं तुरन्त ही समझ गया था कि अब उसे कोई साधारण नहीं, मोटे लण्ड की आवश्यकता है, शायद उसे बड़े लण्ड की आदत हो गई थी।

इसलिये उसे अब मेरे लण्ड की चुदाई में मजा नहीं आता था।

यह सब देख कर अब तो मेरा मन उसे किसी प्लास्टिक के लण्ड से नहीं, पर सच में किसी किसी मोटे और बड़े लण्ड से चुदाई होते देखने का मन हो आया था।

वैसे शैला पहले बहुत ही सेक्सी औरत थी और वो कई कई बार एक ही दिन में चुदा लेती थी, उसे डर नहीं लगता था।

वो चुदने में एक्सपर्ट थी और सब काम उसे सेक्स में करना मन्जूर था।

वो चुदाते समय लण्ड को अपने मुंह में लेती थी, गाण्ड में भी मस्ती से लण्ड ले लेती थी।

69 की पोजीशन में भी मजे लेती थी।

चुदते समय उसकी दर्द भरी आवाज में चिल्लाना, आहे भरना गर्म गर्म सांसे छोड़ना, चूत को उठा उठा कर लण्ड लेना, जीभ से लण्ड को सहलाना, उसकी वो कातिल निगाहें और मुंह से चूसने का अन्दाज और पूरा लण्ड मुंह में भर लेना, हम दोनों को बहुत ही मजा आता था।

अब कुछ सालों से वो ठण्डी हो गई थी और मुझे उसे फिर से गर्म करना था।

एक दिन मैं और शैला रात को कहीं से आ रहे थे।

हम बिल्डिंग में आ गये तो नया चौकीदार गेट पर था।
वो कुछ पचास साल का होगा।

वो मोटा सा लम्बा सा सांवले रंग का आदमी था।

मैंने इस बात को नोट किया कि जब हम ऊपर जा रहे थे तो वो शैला की गाण्ड को बहुत ही घूर रहा था।

शैला ने नाईटी पहन रखी थी सो उसकी गाण्ड पीछे से मस्त बाहर निकली हुई दिख रही थी।

मुझे लगा कि क्यूं ना मैं उससे शैला को चोदने के लिये बोलूं।

पर मुझे अभी उसके लण्ड का आकार भी देखना था क्यूंकि शैला को तो मोटे लण्ड की आवश्यकता थी।

मैं चौकीदार को दूसरे दिन दारू पिलाने ले गया और जब उसे पेशाब आया तो मै भी उसके साथ में गया।

जब उसने अपनी पैन्ट की जिप खोल कर लण्ड निकाला तो मैं उसका लण्ड देख कर दंग हो गया।

काला सा मोटा सा लण्ड नौ इंच का था।

मैं उसका लण्ड देख कर खुश हो गया।
उसका नाम मिन्दर था पर बहुत ही गर्म दिमाग का आदमी था और बहुत गाली देता था।

बातों बातों में मैंने भी थोड़ी बहुत पी ली थी फिर उससे पूछा कि तुम मेरी बीवी को घूर रहे थे।

पहले तो वो थोड़ा डरा, पर दारू के नशे में बोला- मस्त माल है… क्या गाण्ड है उसकी!

मैंने पूछा- तुम उसे चोदोगे?

इस पर वो उठ कर बोला- चलो, अभी चोद डालूंगा उसे।

अब हम घर की तरफ़ चले।

उसे घर में ले गया और शैला से कहा- आज ये यहीं सोयेगा।

वो अब हमारे साथ सो गया।

हम बेड पर थे और वो नीचे सो रहा था।

थोड़ी देर बाद मैं उठा और मैंने जो पहनने को उसको लुंगी दी थी, उसे ऊपर कर दी।

उसने अपनी लुन्गी निकाल दी।
अब उसका काला सा मोटा और बड़ा सा लण्ड खुला हुआ था।
वो अब सोने की एक्टिंग करने लगा।

मैं दूसरे कमरे में चला आया और जोर से दरवाजा बन्द किया।

दरवाजे के बन्द करने की आवाज से शैला उठ गई।

उसने मिन्दर के बड़े लण्ड को देखा तो उसे कुछ होने लगा।
वो सोचने लगी कि मिन्दर नशे में सो रहा है तो वो उसके लण्ड को सहलाने लगी।

इतने में मैंने दरवाजे को खोला तो शैला डर गई पर मैंने उसे कहा- मज़े कर।

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *