Category: हिंदी सेक्स कहानी

साड़ी से झलकती जवानी 

शादीशुदा होने के बाद मैंने काफी अनुभव किया की किसी लड़की को चाहना और उसके साथ रहना कितना अलग चीज है। मैंने भी कांची से प्रेम विवाह किया था और जब मैं उसके साथ रहने लगा तो लगा की यह ऐसी...

ट्रेन की वो रात उस लड़की के साथ 

यु तो मैं अपने कॉलेज के दिनों से ही ट्रेन में घूम रहा हु पर पहले की बात अलग थी और अब की बात अलग है। पहले मैं ट्रेन में जाने के लिए उत्शहित रहता था और अब मुझे ट्रेन में...

मेरी सावली खूबसूरत बीवी 

मेरी शादी ठीक और भारतीय शादियों की तरह हुई जिसमे सारा निर्णय घर के बुजुर्ग लेते है। मुझे बस लड़की की एक तस्वीर भेज दी की देखलो किससे तुम्हे जुड़ना है। मैंने तस्वीर देखि और देख कर निराशा सी हुई ....