ननद और भाभी ने आपस में कर ली चुदाई

Hindi porn stories, चुदाई स्टोरी ननद और भाभी ने आपस में ही कर ली चुदाई। दोनों चूतों ने मिलकर आपस के ही कर लिया अपने प्यास का इलाज़। लेस्बियन सेक्स स्टोरी। मेरा नाम प्रिया तिवारी है, मेरी उम्र 29 साल है, मेरी शादी हो चुकी है। मैं ज्यादा खूबसूरत तो नहीं मगर दिखने में बहुत सेक्सी हूँ। मेरी फिगर 34-28-34 है।
यह मेरी पहली कहानी है।
मेरे ससुराल में मेरी सास ननद ससुर और मेरे पति है। मेरा ससुराल बिहार के गया डिस्ट्रिक्ट में है। मेरे पति का नाम विनोद है, वो एक प्राइवेट कंपनी में काम करते हैं। मेरी ननद नेहा कॉलेज में मेडिकल की तैयारी कर रही है। मेरी ननद भी बहुत सेक्सी है उसकी उम्र सिर्फ 22 साल है।
हम चारों बहुत खुश रहते हैं।

और मेरी ननद नेहा मुझसे खुल कर बात करने लगी थी। नेहा ने ही मुझे अन्तर्वासना सेक्स स्टोरीज पढ़ने का चस्का लगाया था, हम दोनों का यह रोज़ का काम हो गया था।
कॉलेज में उसका एक बॉयफ्रेंड भी था मगर उसने अभी तक सेक्स नहीं किया था।

मुझे अन्तर्वासना पर हिन्दी सेक्स कहानी पढ़ने का बहुत शौक चढ़ चुका था, मैं रोज़ नई नई कहानी पढ़ती और अपनी चूत में उंगली करती।

लेकिन यह बात उन दिनों की है जब मेरी शादी के 2 महीने ही हुए थे, मेरे पति आफिस के काम से 20 दिनों के लिए बाहर चले गए, तब मैं बिल्कुल अकेली हो गई। कुछ दिन तो मैंने उंगली से काम चला लिया मगर एक दिन नेहा ने मुझे उदास देख कर मुझसे पूछ लिया- भाभी, क्या हो गया?
मैंने कहा- कुछ नहीं, तुम्हारे भैया की याद आ रही है।
नेहा ने कहा- मैं हूँ न भाभी!
‘तुम नहीं समझोगी… जब तुम्हारी शादी होगी तब पता चलेगा।’
उसने कहा- आज मैं आपके साथ सोऊंगी।

रात को सब खाना खाकर सोने चले गए तो नेहा ने मेरे कमरे में आकर दरवाजा बंद कर दिया।
तब उसने पूछा- भाभी, आज आप मुझे बताओ कि आपकी सुहागरात को क्या क्या कैसे कैसे हुआ था?

मैंने उसे सोने के लिए कहा और मैं उसकी तरफ पीठ करके सोने लगी।
तभी नेहा ने मेरी गांड पे एक तमाचा मारा।
मुझे अपने पति की याद आ गई, मैं कुछ नहीं बोली और सोने लगी. तब मेरी ननद अपना पैर मेरे ऊपर रखा कर मेरे से चिपक गई।
मैंने कहा- क्या कर रही हो?

तब उसने कहा- भाभी मुझे सब पता है, भैया आपको रोज़ रात में चोदते थे, इसलिए बिना चुदाई के आपका मन नहीं लग रहा है।
इतनी गंदी बात सुन कर मुझे शर्म आ गई।

नेहा ने मुझसे कहा- भाभी, आज मैं भैया की जगह लेती हू, आप ऐसे गुमसुम मत रहा करो।
फिर क्या… वो उठी और अपने कपड़े खोलने लगी, सिर्फ चड्डी और ब्रा में लेट गई, मुझे शर्म आ रही थी।

तब वो उठी और मुझे किस करने लगी. मुझे अच्छा लग रहा था, मैं भी गर्म हो रही थी, उसने एक एक करके मेरे सारे कपड़े उतार कर मुझे नंगी कर दिया, वो मेरी चुची चूसने लगी, मेरे मुंह हल्की सिसकारियां निकलने लगी।
वो मेरी चूची चूमते हुए नीचे मेरी चूत पे आ गई, मुझे करंट जैसा लगा मगर उम्म्ह… अहह… हय… याह… मज़ा बहुत आ रहा था।

अचानक उसने मेरी चूत में उंगली डाल दी, मुझे दर्द नहीं हुआ. फिर उसने मेरी चूत में जब तीन उंगली डाल दी तो मुझे दर्द हुआ। वो अपनी उँगलियों से मेरी चूत चोदने लगी.

दस मिनट बात मेरा पानी गिर गया और वो मुझे किस करने लगी।

फिर वो किचन में गई और एक खीरा ले आई. अब उसने अपनी ब्रा पेंटी भी उतार दी, हम दोनों ननद भाभी बिल्कुल नंगे हो गई. नेहा की चुची बड़ी बड़ी थी.
नेहा मेरी चूत में खीरा डाल कर अंदर बाहर करने लगी. कुछ मिनट बाड मैं फिर झर गई.

अब नेहा की बारी थी, मैंने उसकी चुची चूसी और उसकी चुत में खीरा डाल कर अंदर बाहर किया, वो 5 मिनट में ही झर गई।
हमें ऐसा करते हुए रात के 2 बज गए थे, हम दोनों नंगी ही सो गई एक दूसरी के साथ 69 की पोजीशन में!

जब तक मेरे पति वापस नहीं आये, तब तक मैं और नेहा हर रात ऐसे करती रही, जब मेरे पति आये तब उन्होंने मेरी ऐसी चुदाई की जैसे वो कई साल से भूखे हों!

बस यही है मेरी कहानी… अगर कोई गलती हो तो मुझे माफ़ करना क्योंकि मैं ज्यादा पढ़ी लिखी नहीं हूँ, थोड़ा बहुत नेहा ने ही मुझे बता कर यह कहानी लिखवाई है।
आपको मेरी ननद भाभी की लेस्बीयन सेक्स स्टोरी अच्छी लगी या नहीं,

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *