पोर्न मूवी दिखाकर नौकरानी की गांड मार दी

ब्लू फ़िल्म दिखा कर अपनी नौकरानी को चोदा। hindi Sex story, ब्लू मूवी दिखाकर उसको गरम कर दिया और फिर चोद दिया। नमस्कार दोस्तो, मैंने कम्प्यूटर पर सेक्सी ब्लू फिल्म दिखा कर अपनी घरेलू काम वाली की चूत को चोदा.
मैं अन्तर्वासना नियमित पाठक हूँ। मेरा नाम प्रवीण पाण्डेय है, दोस्त मुझे प्राण बुलाते हैं। मैं 5 फुट 10 इंच का हूँ, सामान्य बॉडी है, मेरे लंड की लंबाई 6 इंच है, मैं इलाहाबाद का रहने वाला हूँ।

मैं पहली बार कहानी लिख़ रहा हूँ जो गलती हो माफ़ कीजिएगा।
बात तब की है जब मेरी मम्मी का ऑपरेशन हुआ था तो घर का काम करने के लिये कामवाली लगाई गई। लगभग 35 साल की सिंपल सी दिखने वाली गोरी और मस्त नाम ममता था। एक बार लगाई तो वो लगी ही रही.

मैं पोर्न बहुत देखता हूँ, मेरा दिल उस पर आ गया मैं उसे चोदने के फ़िराक में था।

हुआ यों कि मम्मी पापा वाराणसी चले गए कुछ दिनों के लिए, मैंने सोचा कि क्यों न इस पे चांस मारा जाये!

ममता रोज सुबह काम करने आती थी और आते ही पहले बर्तन धोती थी आँगन में!
आँगन से मेरे रूम में सब दिखाई देता है कि मेरे कंप्यूटर पर क्या चल रहा है।

मैंने सुबह उसके आने के वक्त पर सेक्सी ब्लू फिल्म चला दी जब वो आने वाली थी।

जैसे ही घंटी बजी, मैं गया गेट खोलने और वो अंदर आ गई.
मैं कुछ देर बाहर ही खड़ा हो गया और कुछ देर में मैं भागता हुआ आया और कम्प्यूटर को बंद किया और उसके पास गया।
वो मुझे बड़े ध्यान से देख रही थी।

मैंने उससे कहा- वो गलती से हो गया, किसी से बताना मत!
वो बोली- नहीं बताऊँगी… पर मेरी भी एक बात मानोगे?
मैंने कहा- हां बोलो? जो कहोगी करूँगा, बस किसी को बताना मत!

कहने लगी- मेरे पति को मरे 10 साल हो गए हैं और मेरा भी मन बहुत करता है.
मैंने कहा- हाँ तो!
वो बोली- तुम मेरे साथ वो सब करोगे?

मैंने थोड़ा नाटक किया- नहीं, मैं तुम्हारे साथ ऐसा कुछ नही करूँगा।
वो बोली- मैं तुम्हरी मम्मी को बता दूँगी।

मैं मन ही मन खुश हुआ, सोचा ‘चलो काम खुद ही बन गया।’
मैंने उसे उठाया और रूम में ले गया और उसके ब्लाऊज को खोल डाला. इधर मेरा लंड उसने पकड़ लिया.

मैंने बिस्तर पर लेटाया और किस करने लगा, उसने भी मेरा लोवर उतार दिया धीरे धीरे मैं नीचे आया, उसकी चुची को चूसा और उसका पेटिकोट खोल कर निकाल दिया.

यार, पूछो मत… क्या लगा रही थी उसकी चूत एक हफ्ते पहले शेव की गई झांटें, उसकी गोरी और गुलाबी चूत पर चार चाँद लगा रही थी।
मैंने उसकी चूत को सूँघा, मदहोश करने वाली चूत की खुशबू… मैं अपने आप को रोक ना सका और उसके एक बार हल्के से चाटा वो एक हिल गई।
मैंने अपने जीभ घुसा दी और लग गया चाटने में… स्वाद थोड़ा अजीब था पर जोश में कहाँ पता चलता है.

इधर वो अपनी टांगें मेरी गर्दन में लपेटने लगी और मेरे बाल नोचने लगी, मेरे सर को दबाने लगी और अचानक वो चीखी और उसका पानी निकल गया.
मैंने मुंह हटा लिया, वो हांफने लगी।

जब वो शांत हुई तो मैं अपना लंड चूसने को बोला तो वो मना करने लगी।
मैंने जबरदस्ती उसके मुंह में डाल दिया और जब उसने चूसना शुरु किया ना… मेरी तो चीख़ निकल गई, मेरे मुंह से गालियाँ निकलने लगी- चूस मादरचोद चूस… मज़ा आ रहा है!
मैंने और उसके मुंह में धकेल दिया, वो हांफने लगी, मैंने अपना लंड बाहर निकाला और उसके चूत पर रखा और धक्का मारा, उसने हल्की सी सिसकारी ली और मेरे लंड में भी दर्द हुआ पर मैंने दर्द की परवाह किये बिना एक धक्का और मार दिया, मेरा 6 इंच का लंड पूरा अंदर चला गया।

मैंने उसकी कमर के नीचे तकिया लगाया और हल्का हल्का कमर हिलाने लगा, लंड चूत टाइट थी तो मुझे थोड़ा दर्द हो रहा था।
जब उसकी चूत ने पानी छोड़ा तो मुझे मज़ा आने लगा, वो चिल्लाने लगी- आआह आह और जोर से और तेज उम्म्ह… अहह… हय… याह…!

वो अपने होंठों को दबा रही थी, अपनी चुची मसल रही थी, मैं भी उसकी चुची को दांत काट लेता था.
इसी बीच झड़ गई और शांत पड़ गई लेकिन मैंने अपने धक्के चालू रखे.

थोड़ी देर में वो फिर गर्म हुई और मेरी कमर को लपेट लिया अपने पैरों से! थोड़ी देर बाद वो बोली- मैं आने वाली हूँ!
मैं बोला- मैं भी!
बोली- अंदर ही डाल दो!
मैं चार पांच धक्कों के बाद ही उसकी चूत में झड़ गया, वो भी झड़ गई.

मैं उसके ऊपर ही लेट गया और वो मेरे बालों को सहलाने लगी.
जब मैं उठा तो उसकी तरफ देखा, तो वो मुझे ही देख रही थी.

बाद में वो उठी, अपने कपड़े पहने और काम करने लगी, मैं सो गया।

उसके बाद मैंने उस कामवाली ली चूत को चोदा, खूब चोदा, बहुत चुदाई की।

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *