शीतल भाभी चुदाई के लिए मान गयीं

Ye kahani, shital bhabhi ki chudai ki hai. Hindi sex story, antarvasna, desi chudai ki kahani

मेरा नाम शेखर है, मेरी आयु 39 इयर्स है. मैं जालंधर में रहता हूँ.

यह घटना तीन इयर्स पुरानी है.

दिसम्बर 2008 में मुझे किसी काम से चंडीगढ़ जाना पड़ा. मेने किसी व्यापारी को कैश पहुँचाना था. इसलिए मैं शाम 6 बजे अकेला ही अपनी कार से चंडीगढ़ के लिए चल पड़ा. सड़क पर काफी धुंध थी, और मैं धीरे धीरे गाड़ी चला रहा था.

नवां शहर के पास सड़क पर चंडीगढ़ की तरफ जा रही एक बस खराब होने के कारण सड़क पर रुकी थी, और सवारियाँ सड़क पर खड़े
होकर किसी और बस का इंतज़ार कर रहीं थी.

अचानक मेने देखा के हमारी ही कॉलोनी की शीतल नाम की महिला और उनकी बेटी मिना वहाँ खड़ी थी. शीतल के पति की कुछ इयर्स पहले एक्सीडेंट में मौत हो गई थी, और उन्हें पति की जगह शिक्षा विभाग में नौकरी मिली थी.

मेने कार उनके पास रोक दी और शीतल मेरे पास आ गई.

  • शीतल ने मुझसे पूछा- कहाँ जा रहे हो?
  • मेने कहा- किसी काम से चंडीगढ़ जा रहा हूँ !

उन्होंने कहा- हमारी बस ख़राब हो गई है, क्या आप हमें चंडीगढ़ तक लिफ्ट देंगे?

मेने सोचा कि मेरा सफ़र भी बातों में कट जायेगा और उनको भी सुविधा हो जाएगी, मेने उन्हें कार में बिठा लिया, वो दोनों कार की पिछली सीट पर बैठ गई. उन्होंने बातों में बताया कि मिना ने अगले दिन चंडीगढ़ में बैंक जॉब का कोई टेस्ट देना था.

मिना मेरी परिचित नहीं थी, और शीतल जिन्हें मैं भाभी बुलाता था, से भी पहले मेरी ज्यादा कभी बात नहीं हुई थी. वो कभी कभी हमारे घर किटी पर आती थी.

Shital bhabhi ki chudai

कार चलते मैं बीच बीच में शीशे से मिना को देख लेता लेकिन ज्यादा अँधेरा होने के कारण ठीक से देख नहीं पा रहा था. मिना ने हाई नैक की स्वेटर और ऊपर काला कोट पहना हुआ था.

करीब 24 इयर्स की मिना बहुत सेक्सी थी. शीतल भाभी की उम्र करीब 45 इयर्स थी. शीतल का बदन भी बहुत गठीला था. उसके मम्मों का आकार 38″ लगता था, कमर 32″ के करीब और कूल्हे 40″ होंगे.

मेने शीतल से पूछा- आप रात कहाँ रुकेंगी?
तो उन्होंने कहा- उनका दूर का रिश्तेदार 35 सेक्टर में रहता है, वहाँ रुकेंगे.

मेने उन्हें बताया के मेरे भी बहुत से परिचित चंडीगढ़ में हैं लेकिन मैं होटल में रुकूँगा क्योंकि मैं किसी को परेशान नहीं करना चाहता. शीतल ने मेरी बात से सहमति जताई तो मेने भी उन्हें होटल में रुकने की सलाह दी. शीतल ने तो सहमति जताई लेकिन मिना ने यह कहकर थोड़ी ना नुकुर की कि वहाँ कमरा महंगा मिलेगा.

लेकिन थोड़ी न नुकुर के बाद शीतल के कहने पर वो मान गई.
मेने मिना से भी कुछ बातें की लेकिन उसने बस हाँ-ना में ही जवाब दिया.

Bhabhi ki chudai

हम करीब 9.30 बजे चंडीगढ़ पहुँच गए. वहाँ मेने 22 सेक्टर में एक होटल में 2 कमरे ले लिए और अलग अलग कमरों में चले गए. मेने कहा- खाना थोड़ी देर में एक साथ खायेंगे !

क्यूंकि मेने खाने से पहले पेग लगाना था. इसलिए खाना थोड़ी देर रुक के खाने को कहा. शीतल तो शायद मेरी बात समझ गई लेकिन मिना कहने लगी- मुझको भूख लगी है और सुबह उठना भी जल्दी है.

शीतल ने मिना के लिए पहले खाना मंगवा दिया और सोने को कह दिया.
इस बीच मेने शीतल से कहा- चलो मार्किट तक टहल आते हैं.

ठण्ड बहुत थी. मेने कोक की प्लास्टिक की बोतल में व्हिस्की मिला ली और टहलने चले गए.

मेने शीतल से पूछा- आपको मेरे ड्रिंक पर आपत्ति तो नहीं?
उसने कहा- कोई बात नहीं, लेकिन ज्यादा मत पीना !

घूमते हुए हमने मार्किट से मछली पैक करवा ली और सड़क पर टहलते हुए ही खाने लगे. मैं साथ में पेग भी लगाता रहा और सोचने लगा कि शीतल या मिना में से किसी एक चोदने को मिल जाए तो मज़ा आ जाए.

लेकिन बात शुरू करने की हिम्मत नहीं हो रही थी. ये कहानी आप SexStoriesHD.COM डाट काम पर पढ़ रहे हैं.

hot bhabhi ki chudai ki kahani.

मेने शीतल से पूछा- भाभी, आपने पति के निधन के बाद दूसरी शादी क्यों नहीं की?
तो शीतल ने जवाब दिया- ऐसा करती तो बच्चों का भविष्य ख़राब हो जाता !
मेने हिम्मत करके पूछ ही लिया- शरीर की भी तो कोई ज़रूरत होती है !
तो शीतल ने इतना ही कहा- मेने अपना मन मार लिया है.

मेने कहा- आप तो अभी भी 37-38 इयर्स की लगती हो?
शीतल बोली- यह तो सही है, मेने अपना शरीर संभाल कर रखा है.

मेने हिम्मत करके कह दिया- शीतल जी, मैं आपको किस कर लूँ?
तो शीतल बोली- पागल हो गए हो क्या?

“हाँ शीतल ! आपको करीब पाकर ऐसा ही हो गया है.”
एक बार और किस मांगने पर शीतल बोली- क्या सड़क पर किस करोगे?

यह सुनते ही मैं समझ गया कि बात बन गई, आज तो शीतल चुदेगी ही.

मेने कहा- चलो होटल में चलते हैं, वहाँ करेंगे.

शीतल मान गई !

होटल पहुँच कर हम दोनों मेरे वाले कमरे में बैठ गए और खाने का आर्डर दे दिया.

शीतल बोली- मैं 2 मिनट में कपड़े बदल कर आती हूँ.

लेकिन मैं पूरे मूड में था, मेने शीतल को बाँहों में भर लिया और होंठों पर होंठ रख दिए. कमाल की किस करती थी, शीतल, ऐसा लगता था जैसे जन्मों की प्यासी हो ! मेरे मुँह में अन्दर तक जुबान डालकर चूसने लगी.

मेने उसे बेड पर लेटा लिया और हम रजाई में घुस गए. मेरे हाथ शीतल के बदन से खेलने लगे और वो सीत्कारें भरने लगी.

मेने उसका स्वेटर उतार फेंका और कपड़े भी उतार दिए. शीतल पूरी तरह गरम हो चुकी थी, और उसने अपना हाथ मेरे लंड पर फेरना शुरू कर दिया. अब वो ब्रा पेंटी में थी, मेने उसके पूरे बदन पर जुबान फेरी तो वो खुद बोली- मम्मे तो चूसो जानू !

मेने उसकी ब्रा उतारी तो हैरान रह गया, इतने सेक्सी मम्मे तो मेने किसी लड़की के भी नहीं देखे थे, एकदम सख्त और गुलाबी चूचियाँ.

मेने जोर से उसके मम्मे दबाये और चूसने लगा मेरा एक हाथ शीतल की पेंटी में चला गया. इतने में वेटर ने बेल बजा दी और खाना ले आया.

मैं जल्दी से तौलिया लपेट कर दरवाज़े पर गया और वहाँ से खाना पकड़ कर ले आया.

मेने शीतल की पेंटी उतार दी, उसकी चूत पर हल्के हल्के बाल थे. मैं बिस्तर के पास खड़ा हो गया और शीतल को बेड पर बिठाकर अपना लन उसके मुँह में डाल दिया.

शीतल मेरे लन को लॉलीपाप की तरह चूसने लगी.

अब मेने उसको लेटा कर उसकी टाँगें खोल दी और उसकी चूत चूसने लगा.

वो चिल्लाई- चूसो शेखर ! जोर से चूसो मेरी चूत ! प्यास बुझा दो इसकी ! हाय माँ ! पहले कहाँ थे शेखर ! जल्दी दे लण्ड डाल दो प्लीज !

मेने लन चूत पर रखा, शीतल की फ़ुद्दी पूरी गीली थी.

शीतल ने खुद पकड़कर लन को अपनी चूत में ले लिया मैं पूरे जोश से उसकी चुदाई करने लगा.

शीतल बोली- शेखर अन्दर डिस्चार्ज न करना !

फिर मेने उसको घोड़ी बना कर खूब चोदा.

अब शीतल मेरे ऊपर आ गई और जोर जोर से धक्के लगाने लगी.

मेने शीतल को फिर से घोड़ी बनाया और उसकी गांड में लन डालने लगा तो शीतल चिल्ला उठी, मेने अपना लन बाहर निकाल लिया.

चुदाई करते हुए मेने कहा- शीतल, तुम्हारी बेटी मिना भी तो बहुत सेक्सी है.
शीतल गुस्से में बोली- मिना पे बुरी नजर न रखना कभी !
मेने सॉरी बोल दिया.

करीब दस मिनट बाद मेरा छूटने लगा तो मेने लन बाहर निकल लिया.

शीतल मेरी मुठ मारने लगी और मेने लन उसके मुँह के पास कर कर दिया, मैं उसके गालों पर पिचकारी मारते हुए छुट गया.

शीतल ने बताया कि वो भी दो बार झड़ चुकी है.

इसके बाद हम बाथरूम में गर्म पानी से नहाये.

फिर हमने खाना खाया, शीतल अब अपने कमरे में चली गई सुबह फिर चुदने का वादा करके.

मेने सुबह चार बजे फिर उसको चोदा और जब मिना परीक्षा देने गई तब एक बार फिर से !

बाद में मैं अपना बिज़नेस का काम करके आ गया और शीतल और मिना मेरे साथ जालंधर वापिस आ गई.

मिना की अब शादी हो चुकी है, शीतल के बेटे की भी लेकिन जब भी मौका मिलता है शीतल मुझसे चुदाई करवा कर अपनी प्यास बुझा लेती है, अब भी वो पहले की तरह सेक्सी है लेकिन मिना को चोदने की मेरी तम्मना पूरी नहीं हो सकी.

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *